राजपूत समाज और बाकी समाज के नेतृत्व में बहुत बड़ा फर्क है (Absent leadership of the Rajput public)

Ravi Singh ✍️ राजपूत समाज और बाकी समाज के नेतृत्व में बहुत बड़ा फर्क है:-  1.राजपूत समाज में कोई भी नेता किसी भी दल में शामिल होता है या फिर किसी पार्टी से जीतकर आता है तो उसे हम अपना नेता मान लेते हैं I दिन रात उसके गुणगान शुरू हो जाते हैं, बेशक उसकेContinue reading “राजपूत समाज और बाकी समाज के नेतृत्व में बहुत बड़ा फर्क है (Absent leadership of the Rajput public)”

राजपूतों का दिशाहीन युवा और संगठन (Directionless Rajput Youth & Organizations)

Prashant Singh Sengar ✍️ पहली बात क्षत्रिय समाज के युवाओं और संगठनो के पास ना कोई दीर्घकालिक कोई एजेंडा है ना ही कोई लक्ष्य केवल लाइक कमेंट के लिए कुछ भी करेंगे, हर मामले उड़ती तीर ले लेंगे , ये कभी उसमें क्षत्रिय समाज हित अहित का चितंन मनन नहीं करते हैं , पुरे देश के ठेकाContinue reading “राजपूतों का दिशाहीन युवा और संगठन (Directionless Rajput Youth & Organizations)”

Rajput History between Appropriation & Alienation — Solution (राजपूत इतिहास एप्रोप्रियेशन और एलियेनेशन के बीच — और उसका समाधान)

Pushpendra Rana ✍️ मुझे समझ नही आता लोग राजपूत विरोधी विशेषकर लेफ्टिस्ट ट्रोलर्स से बहस करने में अपना वक्त क्यों बर्बाद करते हैं। बहस उससे की जाती है जिसे या तो ज्ञान हो या ज्ञान प्राप्त करने की इक्षा रखता हो। जिस व्यक्ति को या तो ज्ञान ना हो या फिर सिर्फ जानबूझकर चिढ़ाने कीContinue reading “Rajput History between Appropriation & Alienation — Solution (राजपूत इतिहास एप्रोप्रियेशन और एलियेनेशन के बीच — और उसका समाधान)”

Historical Doublespeak (इतिहास लेखन में राजपूतों के साथ दोहरा व्यवहार)

Historical Doublespeak (इतिहास लेखन में राजपूतों के साथ दोहरा व्यवहार) Ajitesh Narayan Kakan ✍️ ऐसे समय में जब अशरफ मुसलमानों और ब्राह्मण-बनिया-मराठा लाॅबी ने राजपूतों को युद्ध हारने में विशेषज्ञ, मुगलों के गुलाम और अंग्रेजों का कभी प्रतिरोध न करने वालों के अलावा हमारी इज्जत, क्षत्राणियों को सिर्फ मुगलों के हरम का हिस्सा जनरलाइज करनेContinue reading Historical Doublespeak (इतिहास लेखन में राजपूतों के साथ दोहरा व्यवहार)

Rajputs & Reservation (राजपूत और रिज़र्वेशन)

Sachin Prakash Bisen ✍️: रिजर्वेशन पॉलिसी से अपर कास्ट की किसी भी जाति को कोई दिक्कत नहीं होती राजपूत के सिवा भारत में I 22.5 परसेंट रिजर्वेशन एससी एसटी जाति के लिए है इन सीटों पर सिर्फ एससी और एसटी जाति ही कंपीट करती है किसी भी एग्जाम में, 27 परसेंट रिजर्वेशन ओबीसी जातियों केContinue reading “Rajputs & Reservation (राजपूत और रिज़र्वेशन)”

राजपूतों को ब्राह्मणवाद से उठना होगा

Rajeev S Jadaun (Yaduvanshi) ✍️ ब्राह्मण इस देश में छुआछूत और अश्पृश्यता का सबसे बड़ा पोषक है और मूर्ख क्षत्रिय आँख मूंदकर उसके आदेश को क्रियान्वित करने के कारण उस पाप में बराबर का भागीदार है। मेरे पैतृक घर में वर्षों से यह परंपरा है कि आंगन में बजरंगबली का ध्वजा प्रत्येक वर्ष हिंदी कलेंडरContinue reading “राजपूतों को ब्राह्मणवाद से उठना होगा”

मुगलों से कुछ वैवाहिक संबंधों पर शर्मिंदा होना बंद करो।

Pushpendra Rana ✍️ मुगलों से कुछ वैवाहिक संबंधों पर शर्मिंदा होना बंद करो। आपको तो गर्व होना चाहिए कि इतने लंबे, हजारों साल के इतिहास में, इतने बड़े भूभाग और इतनी बड़ी संख्या में होने के बाद भी आपकी जाति पर अगर कोई लांछन लगाया जाता है तो वो भी ऐसा जिसमे लज्जित होने जैसाContinue reading “मुगलों से कुछ वैवाहिक संबंधों पर शर्मिंदा होना बंद करो।”

Should Rajputs succumb to “Jodha Akbar” jibe

Yeshwant Shekhawat ✍️ INTRODUCTION Last few years have seen a flurry of articles, media presentations, live TV discussions and outright malicious online propaganda seeking to educate common public about the eternal military weakness of Rajputs and the resultant habit of “losing all wars”, their supposed misogynism and “selling their daughters to Mughals to save theirContinue reading “Should Rajputs succumb to “Jodha Akbar” jibe”

Baba HarRai Chauhan Neemrana: एक राजपूत कार्यकर्ता का संघर्ष

Dr Yashpal Singh Tanwar, Orthodontist & a young activist with Kshatriya Yuva Sangh ✍️ : हुकम यह हरीराय चौहान यानी राणा हरराय चौहान की समाधि जिसको राणा पीर के नाम से भी पूजा जाता है I यह स्थान करनाल के पास जुंडला नामक गांव पर है जो कि एक समय में चौहानों की उतर हरियाणा मेंContinue reading “Baba HarRai Chauhan Neemrana: एक राजपूत कार्यकर्ता का संघर्ष”

Rajputs, Subalterns & Savarns (राजपूत , बहुजन और सवर्ण )

#राजपूत_ओर_SC-ST ✍️ by अशोक सिंह शेखावत पिछले 7-8 वर्षो से विदित हो रहा है की राजपूत जाति के युवा (( सभी नही )) अनुसूचित ज़ाति- जनजाति के विरुद्ध बहुत आक्रामक व्यवहार कर रहे हैं , विशेषकर सोशल मीडिया पर तो राजपूतो का दलितो के प्रति व्यवहार बहुत ही अशोभनीय जान पडता है I बना लोग दलितोContinue reading “Rajputs, Subalterns & Savarns (राजपूत , बहुजन और सवर्ण )”